लखीमपुर : पसगवा क्षेत्र की डीएससीएल शुगर मिल के अधिकारियो की तानाशाही रवैया

लखीमपुर खीरी : जनपद लखीमपुर खीरी की कोतवाली पसगवा क्षेत्र मे बनी डीएससीएल शुगर मिल अजबापुर के अधिकारियो की तानाशाही रवैया उस समय उजागर हो गई जब अजबापुर निवासी गरीब किसान बाबूराम की सात बीघा जमीन चीनी मिल द्रारा अधिग्रहण कर कब्जे मे लेकर तार खिंचवा रहे थे ।
जब मीडिया को जानकारी मिली । मीडिया ने यह जानकारी जिलाधिकारी लखीमपुर खीरी शैलेंद्र सिंह को दी ।जिलाधिकारी के हस्तक्षेप से कार्य को रोक दिया गया था ।
आज बाबूराम अपने परिवार के बच्चो, महिलाओ, के साथ उसी जमीन पर आमरण अनशन पर बैठ गए ।मामला हाई प्रोफाइल को देखते हुए हजारो की संख्या में क्षेत्रीय किसान इकट्ठा हो गए ।भीड़ को देखते हुए शान्ति व्यवस्था वनाए रखने के लिए कार्यवाहक कोतवाली प्रभारी निरीक्षक शेर सिंह राजपूत ने सभी किसानो को समझा बुझाकर शान्त कराया ।
पूर्व जिला उपाध्यक्ष खीरी समाजवादी पार्टी क्रांति कुमार सिंह मौके पर पहुंचे ।पहुंचकर पीड़ित गरीब किसान से मुलाकात की साथ ही चीनी मिल के एचआर हेड केयन राय से बात की तो चीनी मिल के अधिकारियो से बात की तो उन्होंने बताया कि वर्ष 1996 मे बाबूराम की जमीन अधिग्रहण कर ली गई और दो बार प्रार्थी बाबूराम हाइकोर्ट लखनऊ से मुकदमा हार चुके है ।
बताते चले कि प्रार्थी बाबूराम के पास कुल सात बीघा जमीन है जो कि चीनी मिल की तानाशाही रवैया के चलते जमीन कब्जा कर रही है ।
आखिर शासन प्रशासन के हस्तक्षेप से चीनी मिल के अधिकारियो को झुकना पड़ा पीड़ित किसान बाबूराम को मुवाबजा मे 10 वीगह जमीन और लखीमपुर खीरी की ट्रेजरी मे जमा पैसा देनेकी बात कही है
उपजिलाधिकारी मोहम्मदी स्वाति शुक्ला ने मौके पर पहुंचकर पीड़ित किसान बाबूराम से पूछताछ की तत्पश्चात बात करने के बाद चीनी मिल के अधिकारियों से बात की है

इस दौरान मोहम्मदी उपजिलाधिकारी स्वाति शुक्ला, नायब तहसीलदार पसगवा ओमप्रकाश मिश्रा,राजस्व टीम सहित शान्ति व्यवस्था वनाए रखने के लिए भारी मात्रा मे पुलिस मौजूद रही ।

You May Also Like

%d bloggers like this: