भाजपा की केन्द्र सरकार के 4 साल के शासन में देश की जनता से किए गए विश्वासघात – अजय माकन

मोदी सरकार द्वारा दलितों और आदिवासियों का विकास करना तो दूर उल्टे उन पर अत्याचार किए है। मोदी सरकार के राज में दलित उत्पीड़न के खिलाफ बनाए गए कानून को ही कमजोर कर दिया गया और प्रत्येक 12 मिनट में एक दलित पर अत्याचार होता है प्रत्येक दिन 6 दलित महिलाओं के साथ बलात्कार होता है। गुजरात में 4 दलित युवकों को सार्वजनिक रुप से कोड़े मारे जाते है और घसीटा जाता है। डेल्टा मेघवाल का बलात्कार और हत्या तथा रोहित वैम्यूला को आत्म हत्या करने के लिए विवश इन्ही के राज में किया गया है। – अजय माकन

भाजपा की केन्द्र सरकार के 4 साल के शासन में देश की जनता से किए गए विश्वासघात पर बोलते हुए श्री अजय माकन कहा कि मोदी सरकार के कार्यकाल में किसान बर्बाद हुए हैं, युवाओं को नए रोजगार देने की बजाय लोगों के रोजगार छिने हैं, अर्थ व्यवस्था ठप हुई, भ्रष्टाचार और घोटाले हुए, राष्ट्रीय सुरक्षा दाव पर लगा दी गई, विदेश नीति में असफलता, दलितों और आदिवासियों पर अत्याचार बढ़े, महिलाओं पर अत्याचार बढ़े और उनको सुरक्षा देने में असफल, मोदी सरकार के फ्लेगशिप कार्यक्रम बुरी तरह से असफल हुए।

 

  • मोदी के सरकार के कार्यकाल में किसान को तंगी में जीवन जीना पड़ रहा है। भाजपा ने 2014 के चुनाव घोषणा पत्र में किसानों के लिए वायदा किया गया था कि लागत पर 50 अतिरिक्त एम.एस.पी. के रुप में दिया जाएगा, जो कि जुमला साबित हुआ। मोदी सरकार के कार्यकाल में 2014-15 तथा 2017-18 में कृषि विकास की दर 1.9 प्रतिशत रही जबकि यूपीए के कार्यकाल में यह दर 4.2 प्रतिशत थी। – अजय माकन

 

  • भाजपा ने 2 करोड़ नौकरियां देने की बात कही थी, परंतु लेबर ब्यूरो रिपोर्ट के अनुसार 2016-17 में केवल 4.16 लाख नौकरियां ही दी गई। मोदी सरकार ने नोटबंदी पर अपनी पीठ थपथपाई थी जबकि उसके इतने दुष्परिणाम हुए कि 15 लाख लोगों को अपनी नौकरियां गवानी पड़ी। – अजय माकन
  • बैंकों में लोगों के पैसे सुरक्षित नही है और घोटालों के कारण 2018 के चौथे क्वार्टर में 44,552 करोड़ के करीब का घाटा हुआ है। यूपीए सरकार में जिस एक राफेल जहाज को 526.10 करोड़ में खरीदा जाना था जबकि मोदी सरकार ने प्रति जहाज 1670.70 करोड़ में खरीदा है अर्थात राफेल सौदे में भाजपा की सरकार ने क्यों 41,205 करोड़ रुपये ज्यादा दिए? – अजय माकन

 

  • मोदी सरकार के कार्यकाल में राष्ट्रीय सुरक्षा को जितना खतरा हुआ है वह पहले नही हुआ। पिछले 48 महीनों में जम्मू और कश्मीर में सीमा पर हुए हमलों में 371 जवान शहीद हुए है और 239 नागरिकों को अपनी जान गंवानी पड़ी हैं। – अजय माकन

You May Also Like

%d bloggers like this: